Skip to main content

use of paracetamol tablet पैरासिटामोल के उपयोग और लाभ ( Paracetamol Uses and Benefits in Hindi)

 

use of paracetamol tablet पैरासिटामोल के उपयोग और लाभ ( Paracetamol Uses and Benefits in Hindi)

पेरासिटामोल दवाओं  (paracetamol tablet) के एक समूह से संबंधित है जिसे दर्दनाशक या painkillers (दर्दनिवारक दवाओं). के रूप में जाना जाता है। इसका उपयोग हल्के से मध्यम दर्द को दूर करने के लिए किया जाता है। यह raised temperature (fever) बढ़े हुए तापमान (बुखार), को कम करने के लिए भी उपयोगी है, जैसे ठंड के दौरान या बचपन के टीकाकरण के बाद।

use of paracetamol tablet /paracetamol tablets uses


पेरासिटामोल  (paracetamol tablet)  एक सामान्य दर्द निवारक है और कई रिटेल आउटलेटों से टेबलेट / कैप्सूल और लिक्विड मेडिसिन के रूप में खरीदने के लिए उपलब्ध है। बहुत से ब्रांडों के 'ओवर-द-काउंटर' दर्द निवारकों में पेरासिटामोल शामिल होता हैं, जैसे कि कई ठंड और फ्लू के उपचार के लिए। यह महत्वपूर्ण है कि आप किसी भी दवा के लेबल की जाँच करें जिससे आप सुनिश्चित करें कि आप पेरासिटामोल युक्त एक से अधिक दवा नहीं ले रहे हैं।



पेरासिटामोल लेने से पहले पेरासिटामोल लेने से पहले before taking paracetamol

अधिकांश लोग बिना किसी समस्या के पेरासिटामोल (paracetamol tablet)  ले सकते हैं, लेकिन यह सुनिश्चित करने के लिए कि यह आपके लिए सही उपचार है, इसे लेने से पहले डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बात करें:


यदि आप गर्भवती हैं या स्तनपान कर रही हैं। ऐसा इसलिए है, क्योंकि जब आप एक बच्चे होने की अपेक्षा कर रही हैं या उसे स्तनपान करा रही हैं, तो आपको डॉक्टर की अनुशंसा के अनुसार दवाएं लेनी चाहिए।

यदि आपके यकृत की एक गंभीर समस्या है, या यदि आप नियमित रूप से अत्यधिक मात्रा में शराब पीते हैं।

यदि आप एक डॉक्टर द्वारा अनुशंसित दवाएं लेती हैं



Paracetamol के लाभ - Paracetamol Benefits in Hindi (paracetamol tablets uses)

पैरासिटामोल का उपयोग आमतौर पर दर्द निवारक और बुखार के इलाज के लिए किया जाता है। इसका इस्तेमाल सिरदर्द, मांसपेशियों के दर्द, गठिया, पीठ-दर्द, दांत-दर्द, जुकाम और बुखार जैसी कई स्थितियों के उपचार में होता है। इन सबके अलावा भी कई स्थितियों में पैरासिटामोल का उपयोग किया जा सकता है। संभव है यहां उनका जिक्र न किया गया हो। -


 paracetamol tablet मुख्य लाभ

  • बुखार 
  • सिरदर्द
  • दर्द

paracetamol tablet अन्य लाभ


  • जोड़ों में दर्द 
  • मांसपेशियों में दर्द  
  • दांत में दर्द 
  • डेंगू बुखार 
  • मलेरिया 
  • चिकनगुनिया 
  • वृषण में सूजन
  • पैरों में दर्द 
  • साइटिका 
  • कमर दर्द 
  • स्लिप डिस्क 
  • मोच 
  • एड़ी में दर्द 
  • कलाई में दर्द 
  • ऑस्टियोआर्थराइटिस
  • माइग्रेन 
  • वायरल फीवर
  • प्रेगनेंसी में कमर दर्द
  • प्रेगनेंसी में ब्रेस्ट में दर्द
  • गर्भावस्था में ऐंठन
  • गर्भावस्था में पेडू में दर्द
  • प्रेगनेंसी में सर दर्द
  • प्रेगनेंसी में बुखार
  • प्रेगनेंसी में दर्द
  • हाथ में दर्द 


Paracetamol के नुकसान, दुष्प्रभाव और साइड इफेक्ट्स - Paracetamol Side Effects in Hindi

आमतौर पर इस दवा का कोई दुष्प्रभाव नहीं होता है। यदि आपको कोई असामान्य प्रभाव महसूस हो, तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से तुरंत संपर्क करें


Paracetamol Side गंभीर Effects 


  • लिवर की क्षति
  • स्टीवन-जॉनसन सिंड्रोम
  • अनैफिलैक्टिक रिएक्शन
  • एनीमिया 
  • एडिमा

Paracetamol medium Side Effects 

  • कब्ज 
  • पीलिया 
  • एरिथमा 
  • हल्का
  • सूजन
  • लाल चकत्ते
  • दस्त
  • इंजेक्शन लगने वाली जगह पर एलर्जी की प्रतिक्रिया

यदि आपको कभी भी एक दवा से एलर्जी हुई हो।

Comments

Popular posts from this blog

राजस्थान कर्ज माफी लिस्ट 2022: ऑनलाइन (Kisan Karj Mafi List) जिलेवार सूची

  किसानों को कई बार फसल के लिए ऋण लेने की आवश्यकता पड़ जाती है। जिसके कारण उनको आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ता है। इस समस्या को दूर करने के लिए सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार की योजनाओं का संचालन किया जाता है। राजस्थान सरकार द्वारा भी किसानों का ऋण माफ करने के लिए एक योजना का संचालन किया जाता है। जिसका नाम राजस्थान कर्ज माफी योजना है। इस योजना के माध्यम छोटे एवं सीमांत किसानों का ₹200000 तक का ऋण माफ कर दिया जाता है। वह सभी किसान जिन्होंने अपना ऋण माफ करने के लिए ऑनलाइन आवेदन किया था उनका नाम आधिकारिक वेबसाइट पर अपडेट कर दिया गया है। इस लेख के माध्यम से आपको Rajasthan karj mafi Yojana list में अपना नाम देखने की प्रक्रिया से अवगत कराया जाएगा। इसके अलावा आपको राजस्थान कर्ज माफी जिलेवार सूची से संबंधित अन्य जानकारी भी प्रदान की जाएगी। Rajasthan govt. Karj Mafi Yojana List 2022 राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी कर्ज माफ़ी लिस्ट में अपना नाम देखना चाहते है तो वह घर बैठे इंटरनेट के माध्यम से योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आसानी से देख सकते है इसके लिए किसानो को कही जाने की आवश्यकता नह

Shramik Card ka Paisa Kaise Check Kare – श्रमिक कार्ड ₹1000 की किस्त कैसे चेक करें

Shramik card ki kist कैसे चेक करें – सरकार ने देश के पंजीकृत श्रमिकों के खातों में श्रमिक कार्ड की पहली किस्त का पैसा भेज दिया है लेकिन अभी भी बहुत सारे श्रमिकों को श्रमिक कार्ड की पहली किस्त का पैसा नहीं मिला है आइए जानते हैं Shramik Card ka Paisa Kaise Check Kare मोबाइल से। Shramik Card ka Paisa Kaise Check Kare उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा प्रदेश के असंगठित क्षेत्र में कार्यरत श्रमिकों को ₹500 प्रति माह की दर से 4 माह तक भरण-पोषण भत्ता योजना का लाभ प्रदान कर रही है जिसके अंतर्गत उत्तर प्रदेश के श्रमिकों को Shramik Card ki pahli kist यानी कि ( shram card 1st installment ) का पैसा श्रमिकों को बैंक खातों में दे दिया गया है। Shramik Card ka Paisa Kaise Check Kare श्रमिक कार्ड भरण पोषण योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए श्रमिक को श्रमिक कार्ड रजिस्ट्रेशन करना आवश्यक है यह रजिस्ट्रेशन आप अपने मोबाइल से भी कर सकते हैं इसके लिए आप के आधार कार्ड में आपका मोबाइल नंबर लिंक होना आवश्यक है। प्रदेश के जिन श्रमिकों को श्रमिक कार्ड की पहली किस्त प्राप्त

कर्ज माफी योजना : सहकारी बैंक के बाद अब कमर्शियल बैंकों से लिया ऋण होगा माफ

राजस्थान की गहलोत सरकार की ओर से राज्य के किसानों के कर्ज माफ करने की प्रक्रिया जारी है। सहकारी बैंकों के बाद अब गहलोत सरकार कर्मिशियल बैंकों के कर्ज माफ करने की तैयारी में जुट गई है। इसको लेकर कर्मिशियल बैंकों ने सरकार को रिपोर्ट सौंपी है। इस रिपोर्ट के आधार पर ऐसे किसानों को  कर्ज  माफी का लाभ देने के लिए सरकार द्वारा योजना अमल में लाई जाएगी। इससे प्रदेश के उन किसानों को फायदा होगा जिन्होंने कर्मिशियल बैंक से ऋण लिया है। हालांकि अभी राज्य सरकार की ओर से कर्मिशियल बैंकों के ऋण माफी को लेकर कोई घोषणा नहीं की गई है लेकिन ऐसी उम्मीद की जा रही है कि राज्य कृषि बजट का इस्तेमाल कर ऐसे किसानों का बकाया कर्ज माफ कर सकती है। बता दें कि इससे पहले सीएम गहलोत ने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों को ऑफर दिया था कि एनपीए हो चुके लोन का 10 प्रतिशत सरकार चुकाएगी, 90 प्रतिशत बैंक माफ करेंगे। लेकिन बैंकों ने इसमें दिलचस्पी नहीं दिखाई थी। इसलिए सरकार अब अपने स्तर पर कमर्शियल बैंकों की कर्जमाफी की कवायद में जुटी है। बता दें कि गहलोत सरकार ने सत्ता में आने से पहले किसानों के बकाया कर्ज माफ करने की घोष